Search
Sunday 16 May 2021
  • :
  • :
Latest Update

Rajasthan Government Taken A Harsh Decision On Child Marriage Said Put Date Births Of Bride And Bridegroom On The Wedding Card – राजस्थान: अब शादी के कार्ड पर लिखनी होगी दूल्हा-दुल्हन की जन्मतिथि, बाल विवाह रोकने का गजब प्लान

Rajasthan Government Taken A Harsh Decision On Child Marriage Said Put Date Births Of Bride And Bridegroom On The Wedding Card – राजस्थान: अब शादी के कार्ड पर लिखनी होगी दूल्हा-दुल्हन की जन्मतिथि, बाल विवाह रोकने का गजब प्लान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: Tanuja Yadav
Updated Sat, 10 Apr 2021 12:00 PM IST

ख़बर सुनें

राजस्थान सरकार ने बाल विवाह को रोकने के लिए एक सख्त कदम उठाया है। सरकार के नए आदेश के अनुसार अब शादी के कार्ड पर दुल्हा और दुल्हन दोनों की जन्म तिथियों को छापा जाना जरूरी है। राज्य में होने वाले बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने एक मेगा प्लान तैयार किया है। 

राज्य सरकार ने आदेश दिया है कि दुल्हा और दुल्हन के शादी के कार्ड पर अब से उन दोनों की जन्म तिथियों को भी छापा जाएगा और इसके लिए जोड़े के जन्म प्रमाण पत्र की कॉपी प्रिंटिंग प्रेस को दी जाएगी। बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। 

सरकारी आदेश की माने तो अधिनियम और बाल विवाह निषेध अधिनियम के प्रावधानों का बड़े पैमाने पर विज्ञापन दिया जाना है। इसके अलावा सरकारी आदेश में यह भी कहा गया है कि अधिकारियों की मदद से लोगों को यह बताना चाहिए कि बाल विवाह एक अपराध है और इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। लोगों को इसके प्रति जागरुक करने की भी जरूरत है।

विस्तार

राजस्थान सरकार ने बाल विवाह को रोकने के लिए एक सख्त कदम उठाया है। सरकार के नए आदेश के अनुसार अब शादी के कार्ड पर दुल्हा और दुल्हन दोनों की जन्म तिथियों को छापा जाना जरूरी है। राज्य में होने वाले बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने एक मेगा प्लान तैयार किया है। 

राज्य सरकार ने आदेश दिया है कि दुल्हा और दुल्हन के शादी के कार्ड पर अब से उन दोनों की जन्म तिथियों को भी छापा जाएगा और इसके लिए जोड़े के जन्म प्रमाण पत्र की कॉपी प्रिंटिंग प्रेस को दी जाएगी। बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। 

सरकारी आदेश की माने तो अधिनियम और बाल विवाह निषेध अधिनियम के प्रावधानों का बड़े पैमाने पर विज्ञापन दिया जाना है। इसके अलावा सरकारी आदेश में यह भी कहा गया है कि अधिकारियों की मदद से लोगों को यह बताना चाहिए कि बाल विवाह एक अपराध है और इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। लोगों को इसके प्रति जागरुक करने की भी जरूरत है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *