Search
Tuesday 15 June 2021
  • :
  • :
Latest Update

Coronavirus : 150 Attended Burial Of Covid Positive Man, 21 Dead In Rajasthan Sikar Village – लापरवाही: कोरोना संक्रमित का शव दफनाने के लिए जुटे 150 लोग, गांव में अब तक 21 की मौत

Coronavirus : 150 Attended Burial Of Covid Positive Man, 21 Dead In Rajasthan Sikar Village – लापरवाही: कोरोना संक्रमित का शव दफनाने के लिए जुटे 150 लोग, गांव में अब तक 21 की मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सीकर
Published by: दीप्ति मिश्रा
Updated Sun, 09 May 2021 09:47 AM IST

सार

राजस्थान के सीकर जिले के खीरवा गांव में एक कोविड से मरने वाले व्यक्ति को दफनाने के लिए 150 से ज्यादा लोग जुटे, जिसके 21 दिन के अंदर अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक तस्वीर)
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

देश में जब कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है। लाखों लोग प्रतिदिन इस  महामारी की चपेट में आ रहे हैं और हजारों लोग इस संक्रमण के चलते दम तोड़ रहे हैं। महामारी पर काबू पाने के लिए देश भर में तमाम पाबंदियां लागू हैं। प्रशासन लगातार कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जारी दिशानिर्देशों को लेकर लोगों को जागरूक कर रहा है। इसके बावजूद लोगों की लापरवाहियां थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं। लोगों की लापरवाही का ऐसा ही एक मामला राजस्थान के सीकर जिले से सामने आया है। जिले के खीरवा गांव में एक कोविड से मरने वाले व्यक्ति को दफनाने के लिए 150 से ज्यादा लोग जुटे, जिसके 21 दिन के अंदर अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। 

राजस्थान में कोरोना संक्रमण तेजी से अपने पांव पसार रहा है। प्रदेश के सीकर जिले की लक्ष्मणगढ़ तहसील के खीरवा गांव में पिछले 21 दिनों में 21 लोगों से अधिक लोगों की मौते होने से लोग दहशत में हैं। इसके बाद राज्य के स्वास्थ्यकर्मियों की टीमें खीरवा गांव पहुंची है। हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि गांव में 15 अप्रैल से पांच मई के बीच कोरोना वायरस संक्रमण के कारण केवल चार मौत हुई हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, गांव के एक व्यक्ति की कोरोना वायरस संक्रमण से गुजरात में मौत हो गई थी। उसका शव 21 अप्रैल को खीरवा गांव लाया गया। उसकी अंतिम यात्रा में लगभग 150 लोग शामिल हुए और इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया था। उन्होंने बताया कि शव यहां प्लास्टिक के थैले में आया था, लेकिन लोगों ने उसे प्लास्टिक के थैले से निकाल लिया और कई लोगों ने इस प्रक्रिया में शव को छुआ भी था।

लक्ष्मणगढ़ के उपखंड अधिकारी कलराज मीणा ने बताया, 21 में से सिर्फ तीन या चार लोगों की मौत ही कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई है। ज्यादातर मौतें अधिक आयु वाले समूह में हुई हैं। इसके बावजूद हमने जिन परिवारों में मौतें हुई हैं, उनके परिवारों में से 147 लोगों के नमूने लिए हैं ताकि कोरोना वायरस के सामुदायिक स्तर पर सक्रंमण की स्थिति स्पष्ट हो सके। उन्होंने बताया कि प्रशासनिक अमले ने गांव को संक्रमण मुक्त बनाने का काम किया है। लोगों को बीमारी तथा हालात की गंभीरता के बारे में बताया गया है और अब वे सहयोग कर रहे हैं।

सीकर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय चौधरी ने कहा कि इस बारे में स्थानीय टीम से रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही वह कुछ टिप्प्णी कर पाएंगे। 

मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी, बाद में दी सफाई
 पीसीसी चीफ और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, जो स्थानीय विधायक हैं, उन्होंने भी गुरुवार को सोशल मीडिया पर इस मामले में पोस्ट लिखा था, लेकिन बाद में कुछ लोगों की आपत्ति के बाद उन्होंने यह पोस्ट डिलीट कर दी। डोटासरा ने ट्वीट किया था कि एक शव को छूने के बाद पूरा गांव संकट में आ गया है। उन्होंने इस ट्वीट को लेकर शुक्रवार को सफाई देते हुए कहा,  स्थानीय प्रशासन की ओर से कहा गया है कि जो मौत हुई, वो कोविड की वजह से नहीं हुई थी। फिर भी, गांवों में असामान्य मौत के पीछे का कारण क्या है, इसे जानने के लिए डॉक्टरों की टीम को भेजा गया है। गांव में संक्रमण के पैमाने को निर्धारित करने के लिए कुल 157 आरटी-पीसीआर नमूने एकत्र किए गए।

विस्तार

देश में जब कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है। लाखों लोग प्रतिदिन इस  महामारी की चपेट में आ रहे हैं और हजारों लोग इस संक्रमण के चलते दम तोड़ रहे हैं। महामारी पर काबू पाने के लिए देश भर में तमाम पाबंदियां लागू हैं। प्रशासन लगातार कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए जारी दिशानिर्देशों को लेकर लोगों को जागरूक कर रहा है। इसके बावजूद लोगों की लापरवाहियां थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं। लोगों की लापरवाही का ऐसा ही एक मामला राजस्थान के सीकर जिले से सामने आया है। जिले के खीरवा गांव में एक कोविड से मरने वाले व्यक्ति को दफनाने के लिए 150 से ज्यादा लोग जुटे, जिसके 21 दिन के अंदर अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। 

राजस्थान में कोरोना संक्रमण तेजी से अपने पांव पसार रहा है। प्रदेश के सीकर जिले की लक्ष्मणगढ़ तहसील के खीरवा गांव में पिछले 21 दिनों में 21 लोगों से अधिक लोगों की मौते होने से लोग दहशत में हैं। इसके बाद राज्य के स्वास्थ्यकर्मियों की टीमें खीरवा गांव पहुंची है। हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि गांव में 15 अप्रैल से पांच मई के बीच कोरोना वायरस संक्रमण के कारण केवल चार मौत हुई हैं।

अधिकारियों के मुताबिक, गांव के एक व्यक्ति की कोरोना वायरस संक्रमण से गुजरात में मौत हो गई थी। उसका शव 21 अप्रैल को खीरवा गांव लाया गया। उसकी अंतिम यात्रा में लगभग 150 लोग शामिल हुए और इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया था। उन्होंने बताया कि शव यहां प्लास्टिक के थैले में आया था, लेकिन लोगों ने उसे प्लास्टिक के थैले से निकाल लिया और कई लोगों ने इस प्रक्रिया में शव को छुआ भी था।


आगे पढ़ें

जिलाधिकारी ने कहा, सिर्फ चार मौतें ही कोरोना से हुईं




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *