Search
Saturday 10 April 2021
  • :
  • :
Latest Update

ग्लोबल मार्केट देखकर मुझे आत्मबल मिला है -राज्यपाल देवव्रत

ग्लोबल मार्केट देखकर मुझे आत्मबल मिला है -राज्यपाल देवव्रत

व्यापारिक संस्थाओ व व्यापारियों ने ग्लोबल मार्केट में गुजरात के राज्यपाल का सम्मान किया

सूरत । दिनांक 25/02/2021 को फोस्टा एवं ग्लोबल टेक्सटाइल मार्केट द्वारा ग्लोबल टेक्सटाइल मार्केट के प्रांगण में गुजरात राज्य के राज्यपाल श्री आचार्य देवव्रत जी का स्वागत अभिनंदन का कार्यक्रम रखा गया।

ग्लोबल टेक्सटाइल मार्केट व् फोस्टा के पदाधिकारियों के साथ सभी संस्थाओ व मार्केटों के पदाधिकारियोंने माननीय महामहिम राज्यपाल का पुष्पगुच्छ-शाल ओढ़ाकर एवं मोमेंटो देकर स्वागत किया। मार्केट के हर्षिल डेलीवाला ने विस्तार से सूरत कपड़ा बाजार व व्यापार के बारे में बताया।साथ ही फोस्टा महामंत्री चम्पालाल बोथरा ने राज्यपाल के स्वागत में दो लाईन पढ़कर स्वागत किया।
राज्यपाल ने मार्केट में घूमकर मार्केट का मुआयना किया । महामहिम राज्यपाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि इतने भव्य मार्केट सूरत में है जो देखकर अचंभित हो रहा हूँ।ऐसे मार्केट सूरत में बने है जो देश ही नही दुनिया के समक्ष रखने में सक्षम है।सूरत कपड़ा मार्केट से 15 से 20 लाख लोगों को रोजगैर मिलता है। सूरत में ग्लोबल मार्केट से और भी मार्केट है विश्व विख्यात मार्केट जो पहली बार देखकर बड़ा प्रश्न हूँ।अब जहां भी जाऊंगा सूरत के मार्केट का प्रचार करूँगा, साथ ही मेरे गुरुकुल के बच्चो को भी सूरत मार्केट दिखाने की बात करूँगा।राज्यपाल ने कहा कपड़ा बाजार के लिए मेगा टेक्सटाइल पार्क आने से व आपका प्रयास सूरत को नई ऊंचाइयो पर ले जायेगा।स्वच्छता के मामले में सूरत काफी आगे है।सूरत के नागरिक साफ सफाई के लिये जागरूक है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व मे समक्ष भारत की अलग पहचान स्थापित करने की मंशा के अनुरूप सूरत वाले यहाँ कार्य कर रहे है।यहां आकर मुझे आत्मबल मिला है।

आज के समारोह में फोस्टा से मनोज अग्रवाल, चम्पालाल बोथरा,राजेश अग्रवाल,रंगनाथ शारडा , गोकुल बजाज,श्री कृष्णा बंका,निर्मल जैन,ललित शर्मा,तथा सांवरप्रसाद बुधिया,सुनील जैन एवं दिनेश कटारिया,टेक्सटाइल मार्केट से फूलचंद जैन ,सुबोध सिंघवी,अमर शाह,ललित शाह ,हर्षिल डेलीवाला के साथ विभिन्न संस्थाओ एवं मार्केट के पदाधिकारी उपस्थित रहे| मंच का संचालन व आभार फोस्टा महामंत्री चम्पालाल बोथरा ने किया

टेक्सटाइल मार्केट सूरत को विश्व में सिरमौर बनाने के लिये निम्न कार्यो का आवेदन सौंपा गया।
ज्ञापन के मुख्य मुद्दे:-
1. वर्ष 2021 के बजट में वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमणजीने 7 टेक्सटाइल मेगा पार्क देने की बात कही है, हमारी एसोसिएशन की निरन्तर मांग रही है|कपड़ा मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी जी से भी रूबरू व् पत्रों से कहा गया है| आपश्री इस टेक्सटाइल पार्क को लाने में सहयोग करावे|टेक्सटाइल पार्क के लिए आवश्यक 50-60% सुविधाएं सुरत मे विकसित भी है।
2. गुजरात के मुख्यमंत्री विजयभाई रुपाणी से हमने निरंतर गारमेंट हब बनाने की मांग रखी थी,उन्होंने वर्ष 2017 में गारमेंट हब का बजट में प्रावधान भी दिया है।आपश्री गारमेंट हब ध्यान कर सूरत को प्राथमिकता दिलाएंगे तो गारमेंट में सूरत बांग्लादेश-वियतमान के सामने अपने आपको एक्सपोर्ट व घरेलु मांग दोनों में आगे बढ़ जायेगा|क्योकी सुरत मे रो मटीरियल है,लेबर है,ट्रांसपोर्ट जैसी सभी सुविधाएं है|अत: आपश्री गारमेंट हब में हमें सहयोग करावे|
3. घरेलु महिलाये के रोजगार के लिए वेल्यू एडिशन से घर घर मे कार्य है।सभी के पास सिलाई मशीन व वेल्यू एडिशन के साधन है, उनको स्किल(सिखाना) करना अनिवार्य है।अत: हर मोहल्ले में 200-300 महिलाओ को स्किल(सिखाना) कर गारमेंट बनाना या सिलाई करना, वेल्यू एडिशन में सहयोग दिया जाए तो आत्मनिर्भरता के साथ-साथ सस्ता मजदूरी हमारे लिए विकास के सोपान तय कराएगा।
4. गुजरात सरकार सूरत मे टेक्सटाइल मंत्रालय खोले ताकि कपड़ा उद्योग आगे बढ़ सके।
5. रिसर्च लेबोरेटरी व् स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना सूरत में हो ताकि भविष्य में कपडा उद्योग गुणवत्ता से आगे बढे, उसके लिये राज्य सरकार-केंद्र सरकार दोनों सहयोगी बने।
6. कपड़ा उद्योग कृषि के बाद रोजगार देने वाला सबसे बड़ा उद्योग है।इसके GST आदि के क़ानूनी जटिलताओं में सरलीकरण लाना अनिवार्य है।हम निरन्तर सरकार से प्रयासरत है। इस उद्योग में उत्पादन व् रोजगार में मध्यमश्रेणी के व्यापारियों के लिये सहयोग करावे।

 

गुरुवार शाम को राज्यपाल ने वेड रोड स्थित स्वामीनारायण गुरुकुल में ब”ाो व शिक्षकों के साथ मिलकर तापी नदी किनारे स्व’छता अभियान में भाग लिया। इसके बाद घनश्याम भुवन व संत आश्रम के दर्शन किये। वहां आयोजित समारोह में संतों ने गान किया। और चैन्तनय स्वामी व राज्यपाल ने अपना उदबोधन दिया। बडे स्वामी महाराज ने आभार प्रगट किया।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *