Search
Saturday 17 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

Superstition : superstition rules, panchayat punishes five year old girl for breaking lapwings egg | बच्ची ने टिटहरी के अंडों को क्षतिग्रस्त किया, पंचायत ने घर में जाने पर रोक लगाई

Superstition : superstition rules, panchayat punishes five year old girl for breaking lapwings egg | बच्ची ने टिटहरी के अंडों को क्षतिग्रस्त किया, पंचायत ने घर में जाने पर रोक लगाई

भाषा | Updated:

सांकेतिक तस्वीर

कोटा

राजस्थान के बूंदी जिले में प्रशासन ने पांच वर्षीय बच्ची को अंधविश्वास का शिकार होने से बचा लिया। बच्ची ने दो जुलाई को अपने स्कूल में टिटहरी पक्षी के अंडों को गलती से तोड़ दिया था।

स्थानीय विश्वासों के मुताबिक, ऐसा माना जाता है कि पक्षी बारिश का संदेशवाहक है और इसे या इसके अंडों को नुकसान पहुंचने पर सजा दी जाती है। बच्ची द्वारा दुर्घटनावश अंडों को नुकसान पहुंचने की वजह से गांव के बुजुर्गों की बैठक हुई जिन्होंने ‘पाप’ की सजा के तौर पर बच्ची को जाति से बाहर कर दिया और उसके तीन दिन तक घर में प्रवेश करने पर रोक लगा दी।

बहरहाल, प्रथम कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा को घर के सामने के बाडे़ में रहने की इजाजत दी गई। एक अधिकारी ने बताया कि बच्ची के पिता से फरमान सहन नहीं हुआ और उन्होंने विरोध किया। उन्होंने हंगामा किया तो पंचों ने लड़की की सजा की अवधि बढ़ाकर 11 दिन कर दी।

यह मामला जब स्थानीय प्रशासन और हिंदोली तहसीलदार भगवान सिंह और एसएचओ लक्ष्मण शर्मा के संज्ञान में आया तो वे गांव पहुंच गए। अधिकारियों ने समुदाय के सदस्यों को बताया कि उनका फरमान कानून के विरुद्ध है। सिंह ने बताया कि इसके बाद वे अपना फरमान वापस लेने और नियमों का पालन करने को राजी हो गए।

 

पाइए राजस्थान समाचार(rajasthanNews in Hindi)सबसे पहले नवभारत टाइम्स पर। नवभारत टाइम्स से हिंदी समाचार (Hindi News) अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें Hindi News Appऔर रहें हर खबर से अपडेट।

rajasthan
News
 से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए NBT के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
Web Title superstition rules panchayat punishes five year old girl for breaking lapwings egg

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *