Search
Wednesday 21 August 2019
  • :
  • :

rahul gandhi to meet alwar physical harrashment survivour Family said justice will surely done

Publish Date:Thu, 16 May 2019 11:44 AM (IST)

नई दिल्ली, एजेंसी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को अलवर सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई महिला के परिवार से मुलाकात करने के लिए थानागांजी पहुंचे। यहां पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के बाद राहुल ने  कहा कि जैसे ही मुझे मामले के बारे में पता चला, मैंने तुरंत अशोक गहलोत जी से बात की। यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है। मैंने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की और उन्होंने न्याय की मांग की है और न्याय जरुर होगा। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान उनके साथ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश पार्टी के अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट भी मौजूद रहे। 

 

अलवर पहुंचने के बाद राहुल गांधी सीधे पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। उन्होंने लगभग 20 मिनट तक परिवार से मुलाकात की। राहुल से मुलाकात के समय परिजनों के अलावा वहां किसी भी बाहरी व्यक्ति को अंदर नहीं आने दिया गया। राहुल से मुलाकात के बाद पीड़ित परिवार पूरी तरह संतुष्ट है। कांग्रेस अध्यक्ष के जाने के बाद पीड़ित के परिवार ने मीडिया के कुछ लोगों के साथ अपने मन की बात साझा की। परिवार अब यह नहीं चाहता है कि हमदर्दी जताने के लिए लोगों की भीड़ उनके पास पहुंचे। उन्हें बस राहुल गांधी का इंतजार था। परिजनों के अनुसार, राहुल गांधी ने नौकरी व पुनर्वास का आश्वासन दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि यह आश्वासन जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। पीड़ित परिवार में इसी माह शादी भी है। सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने शादी की खुशियों को छीन लिया लेकिन, राहुल व गहलोत से मिले आश्वासन से अब यह परिवार अपनी जिंदगी को फिर पटरी पर लाने का प्रयास करेगा।

जानकारी के लिए बता दें कि राहुल यहां बुधवार को ही आने वाले थे लेकिन, किन्हीं कारणों की वजह से वो आ नहीं पाए। गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी क्षेत्र में पति को बंधक बनाकर पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस मामले की जांच कर रही। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। राज्य सरकार ने पीड़िता को 4.12 लाख की आर्थिक सहायता दी है। इस मामले को लेकर देश की सियासत भी गरमा गई है। भाजपा नेता और राज्यसभा सदस्य डॉ.किरोड़ी लाल मीणा की अगुवाई में कड़ों लोगों ने जयपुर के सिविल लाइंस फाटक पर प्रदर्शन किया। मीणा ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगा। उन्होंने आरोपितों को फांसी की मांग करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को नुकसान नहीं हो,इस कारण मामले को एक सप्ताह तक दबाए रखा गया। 

यह है पूरा मामला 

घटना 26 अप्रैल को हुई, लेकिन पुलिस ने चुनाव के कारण इसे दबाए रखा। जानकारी के अनुसार पति व पत्नी बाइक पर गांव लालवाड़ी से तालवृक्ष जा रहे थे। थानागाजी-अलवर बाईपास रोड पर दुहार चौगान वाले रास्ते में 5 युवकों ने उन्हें रोका और पति काे बंधक बनाकर मारपीट की और पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म कर वीडियाे बना लिया। पीड़ित पति-पत्नी 30 अप्रैल काे अलवर एसपी के पास पहुंचे थे। इसके बाद थानागाजी पुलिस थाने में 2 मई काे मामला दर्ज किया गया। वीडियो वायरल होने पर घटना 6 मई को सार्वजनिक हुई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ayushi Tyagi




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *