Search
Sunday 24 January 2021
  • :
  • :

Legislative Assembly Session Live Updates Govt Will Bring Bill Against Farm Laws Ashok Gehlot Gulab Chand Pilot – राजस्थान: विधानसभा में पेश हु्आ कृषि संशोधन विधेयक, सोमवार तक के लिए कार्यवाही स्थगित

Legislative Assembly Session Live Updates Govt Will Bring Bill Against Farm Laws Ashok Gehlot Gulab Chand Pilot – राजस्थान: विधानसभा में पेश हु्आ कृषि संशोधन विधेयक, सोमवार तक के लिए कार्यवाही स्थगित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर

Updated Sat, 31 Oct 2020 12:47 PM IST

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (फाइल फोटो)
– फोटो : Twitter @ashokgehlot51

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

राजस्थान का विधानसभा का सत्र शनिवार से शुरू हो गया। इस दौरान राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ संशोधन विधेयक पेश किया। विधेयक को संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया। इसके बाद शोकाभिव्यक्ति हुई और सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने शुक्रवार को विधानसभा भवन और सदन की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश भी दिए।

विधानसभा में पेश हुआ कृषि संशोधन विधेयक 

केंद्रीय कृषि कानूनों के राज्य के किसानों पर पड़ने वाले असर को ‘निष्प्रभावी’ करने के लिए तीन विधेयक शनिवार को राजस्थान विधानसभा में पेश किए गए। संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) (राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020, कृषि (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार (राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020 तथा आवश्यक वस्तु (विशेष उपबंध और राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020 सदन के पटल पर रखे। कुछ और विधेयक भी धारीवाल और कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने सदन में पेश किए। हालांकि इसके बाद शोकाभिव्यक्ति हुई और सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई।

भाजपा ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

राजस्थान सरकार के नए राज्य विधेयक पर राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा, ‘राजस्थान सरकार बस अपने वरिष्ठ नेताओं द्वारा केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध करने के धर्म का पालन कर रही है। कांग्रेस ने खुद अपने शासित राज्यों में ठेके पर खेती लागू की थी।’

 

जयपुर पहुंची वसुंधरा राजे

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता वसुंधरा राजे विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए जयपुर पहुंच गई हैं।

 

 

राजस्थान का विधानसभा का सत्र शनिवार से शुरू हो गया। इस दौरान राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ संशोधन विधेयक पेश किया। विधेयक को संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया। इसके बाद शोकाभिव्यक्ति हुई और सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने शुक्रवार को विधानसभा भवन और सदन की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश भी दिए।

विधानसभा में पेश हुआ कृषि संशोधन विधेयक 

केंद्रीय कृषि कानूनों के राज्य के किसानों पर पड़ने वाले असर को ‘निष्प्रभावी’ करने के लिए तीन विधेयक शनिवार को राजस्थान विधानसभा में पेश किए गए। संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) (राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020, कृषि (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार (राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020 तथा आवश्यक वस्तु (विशेष उपबंध और राजस्थान संशोधन) विधेयक 2020 सदन के पटल पर रखे। कुछ और विधेयक भी धारीवाल और कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने सदन में पेश किए। हालांकि इसके बाद शोकाभिव्यक्ति हुई और सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई।

भाजपा ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना
राजस्थान सरकार के नए राज्य विधेयक पर राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा, ‘राजस्थान सरकार बस अपने वरिष्ठ नेताओं द्वारा केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध करने के धर्म का पालन कर रही है। कांग्रेस ने खुद अपने शासित राज्यों में ठेके पर खेती लागू की थी।’
 

जयपुर पहुंची वसुंधरा राजे

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता वसुंधरा राजे विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए जयपुर पहुंच गई हैं।

 

 





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *