Search
Friday 15 November 2019
  • :
  • :

jaipur News: गले में दुर्लभ गांठ का डॉक्टरों ने किया सफल ऑपरेशन – doctors have successful operation of rare lump in throat

जयपुर, 17 अक्टूबर (भाषा) राजधानी के एक निजी अस्पताल ने गुरुवार को एक 53 वर्षीय रोगी के गले में गांठ का सफल ऑपरेशन करने का दावा करते हुए कहा कि दुनिया में अब तक 300 लोगों में ही ऐसी बीमारी पायी गई है। जयपुर के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के नाक कान गला विभाग के विशेषज्ञ डॉ. मोहन कुलहरी के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक दल ने रोगी के गर्दन के निचले हिस्से के बाई और थायराइड ग्रंथि के करीब एक बड़ी गांठ के साथ-साथ थायराइड ग्रंथि का हिस्सा(हेमीथाइराइडडक्टोमी) भी निकालने का सफल ऑपरेशन करने का दावा

डिसक्लेमर: यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

भाषा | Updated:

NBT

जयपुर, 17 अक्टूबर (भाषा) राजधानी के एक निजी अस्पताल ने गुरुवार को एक 53 वर्षीय रोगी के गले में गांठ का सफल ऑपरेशन करने का दावा करते हुए कहा कि दुनिया में अब तक 300 लोगों में ही ऐसी बीमारी पायी गई है। जयपुर के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के नाक कान गला विभाग के विशेषज्ञ डॉ. मोहन कुलहरी के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक दल ने रोगी के गर्दन के निचले हिस्से के बाई और थायराइड ग्रंथि के करीब एक बड़ी गांठ के साथ-साथ थायराइड ग्रंथि का हिस्सा(हेमीथाइराइडडक्टोमी) भी निकालने का सफल ऑपरेशन करने का दावा किया है। डॉ. कुलहरी ने दावा किया कि इस तरह की गांठ का रोग सम्पूर्ण विश्व में अब तक 300 लोगों में ही पाया गया है। रोगी को गले में दर्द और निगलने में तकलीफ होने के कारण अस्पताल लाया गया था। उन्होंने बताया कि रोगी के रेडियोलॉजिकल परीक्षण व फाइन निडल एस्पिरेशन साइटोलोजी में दो अलग अलग बीमारियों का पता चला था। पहला सिस्ट के साथ साथ थाइराइड नोड्यूल और दूसरा पैराथाइराइड सिस्ट के बारे में पता चला। उन्होंने बताया कि हमने रोगी की सिस्ट को निकालने के साथ साथ सिस्ट के पास वाला थाइराइड ग्रंथि के हिस्से (हेमीथाइराइडडक्टोमी) को भी निकालने का फैसला किया। उन्होंने बताया कि रोगी अब बिल्कुल स्वस्थ्य है।

Web Title doctors have successful operation of rare lump in throat(News in Hindi from Navbharat Times , TIL Network)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *