Search
Thursday 29 October 2020
  • :
  • :

Internet Services Stopped In Dungarpur After Violent Protest In Rajasthan Teacher Recruitment, Cm Convenes Meeting – राजस्थान शिक्षक भर्ती आंदोलन में हिंसा के बाद डूंगरपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद, सीएम ने बुलाई बैठक

Internet Services Stopped In Dungarpur After Violent Protest In Rajasthan Teacher Recruitment, Cm Convenes Meeting – राजस्थान शिक्षक भर्ती आंदोलन में हिंसा के बाद डूंगरपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद, सीएम ने बुलाई बैठक

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर

Updated Sat, 26 Sep 2020 04:13 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

राजस्थान के डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों का प्रदर्शन हिंसक होने के बाद निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। उदयपुर रेंज की आईजी पुलिस विनीता ठाकुर ने शुक्रवार को बताया कि जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं। 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को दिन में ट्वीट के जरिये शांति की अपील करने के बाद रात में प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के अलावा डूंगरपुर क्षेत्र से कांग्रेस व भारतीय ट्राइबल पार्टी के विधायकों ने भी शिरकत की। शनिवार को उदयपुर में भी प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधिमंडल से बैठक की जाएगी।

मुख्यमंत्री के साथ बैठक के बाद राज्य मंत्री अर्जुन बमानिया ने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील की। हालांकि डृंगरपुर के बिच्छीवाडा पुलिस थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग-8 पर हिंसक प्रदर्शन के बाद प्रभावित हुआ आवागमन अब तक सामान्य नहीं हो पाया है। 

बता दें कि अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के साथ 1167 सामान्य श्रेणी के पदों को भरने की अपनी मांग के लिए 2018 परीक्षा के उम्मीदवार पिछले एक पखवाड़े से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बृहस्पतिवार शाम को प्रदर्शनकारियों ने बिच्छीवाडा क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगाने के साथ ही पुलिस पर पथराव किया था। इसके अलावा चार पुलिस गाड़ियों समेत कई वाहनों में आग भी लगा दी गई थी। पथराव में एक एएसपी और एक थानाध्यक्ष समेत दो पुलिस अधिकारी घायल हो गए थे। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज और आंसू गैस का उपयोग कर हालात नियंत्रित करने पड़े थे। 

राजस्थान के डूंगरपुर जिले में शिक्षक भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों का प्रदर्शन हिंसक होने के बाद निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। उदयपुर रेंज की आईजी पुलिस विनीता ठाकुर ने शुक्रवार को बताया कि जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं। 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को दिन में ट्वीट के जरिये शांति की अपील करने के बाद रात में प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के अलावा डूंगरपुर क्षेत्र से कांग्रेस व भारतीय ट्राइबल पार्टी के विधायकों ने भी शिरकत की। शनिवार को उदयपुर में भी प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधिमंडल से बैठक की जाएगी।

मुख्यमंत्री के साथ बैठक के बाद राज्य मंत्री अर्जुन बमानिया ने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील की। हालांकि डृंगरपुर के बिच्छीवाडा पुलिस थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग-8 पर हिंसक प्रदर्शन के बाद प्रभावित हुआ आवागमन अब तक सामान्य नहीं हो पाया है। 

बता दें कि अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के साथ 1167 सामान्य श्रेणी के पदों को भरने की अपनी मांग के लिए 2018 परीक्षा के उम्मीदवार पिछले एक पखवाड़े से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बृहस्पतिवार शाम को प्रदर्शनकारियों ने बिच्छीवाडा क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगाने के साथ ही पुलिस पर पथराव किया था। इसके अलावा चार पुलिस गाड़ियों समेत कई वाहनों में आग भी लगा दी गई थी। पथराव में एक एएसपी और एक थानाध्यक्ष समेत दो पुलिस अधिकारी घायल हो गए थे। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज और आंसू गैस का उपयोग कर हालात नियंत्रित करने पड़े थे। 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *