Search
Friday 20 September 2019
  • :
  • :

मोदी का पाक को संदेश, आतंकवाद को सरंक्षण देने वालों को बख्शेंगे नहीं

मोदी का पाक को संदेश, आतंकवाद को सरंक्षण देने वालों को बख्शेंगे नहीं

pmलखनऊ – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम लीला कमेटी, ऐशबाग में मुख्य अतिथि के रूप में जनसमुदाय से अपने भीतर की कुछ बुराइयों को समाप्त करने का संकल्प दिलाया। इसके साथ ही उन्होंने आतंकवाद को मानवता का सबसे बड़ा दुश्मन बताया।

श्रीरामलीला कमेटी, ऐशबाग के मैदान पीएम मोदी ने लोगों से इस दशहरा पर दस बुराइयों को दूर करने का संकल्प लेने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने सभी से हर वर्ष दशहरा पर आत्ममंथन भी करने को कहा, जिससे अपनी बुराई समाप्त होने का आभास हो सके।

उन्होंने विजयादशमी पर देश के सभी लोगों को शुभकामनाएं देने के साथ ही कहा कि विजयादशमी के पावन पर्व में लीन है। जयश्री राम के नारे के साथ पीएम ने भाषण शुरू किया। पीएम मोदी ने जयश्री राम का उद्घोष किया। उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक रामलीला में शामिल होने का सौभाग्य मिला।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवाद आज से ही समाज तथा देश के बीच में नहीं है। यह तो काफी लंबे तथा प्राचीन काल से है। अब आतंकवाद को खत्म किए बिना मानवता की रक्षा नहीं हो सकती है। उन्होंने कहा कि हम तो आतंकवाद के मददगारों को भी नहीं बख्शेंगे। इससे लडऩे को हम सभी को आगे बढऩा होगा। हम जानते है कि आतंकवाद मानवता का दुश्मन है, हमें इसे जड़ से खत्म करना होगा। आम आदमी भी इसके खिलाफ लड़ सकता है। इसको जड़ से समाप्त करना होगा। हम हर स्तर पर अपनी मर्यादाओं को रेखांकित करते हैं। इस आतंकवाद के खिलाफ हमको बड़ी रेखा खींचनी होगी। हर समय इसका खात्मा करने के लिए बड़ी सेना की जरूरत नहीं होती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्राचीन काल में तो जटायु ने नारी के सम्मान के लिए रावण जैसे शक्तिशाली के खिलाफ मोर्चा खड़ा। जटायु ने नारी सम्मान के लिए रावण से मोर्चा लिया, भले ही जटायु को जीत नहीं मिली लेकिन उसने रावण को अहसास तो करा दिया कि उसको चुनौती मिलेगी। उन्होंने मन के अंदर के रावण को भी मारने के साथ जातिवाद और वंशवाद के रावण को मारने पर जोर दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर व्यक्ति के अंदर सबकुछ समाप्त करने का सामर्थ्य नहीं होता, लेकिन हमको इसी समय तय करना होगा कि हमको कौन सी बुराई का त्याग करना होगा। हम रावण जलाते वक्त बुराईयों का खत्म करें। आप सभी को पता है कि यह विजयादशमी असत्य पर सत्य की जीत का पर्व है।उन्होंने रामलीला मैदान में मौजूद लोगों से जोर से जयश्री राम का तीन-चार उद्घोष कराने के बाद अपना संबोधन समाप्त किया। इससे पहले उन्होंने भाषण की शुरूआत भी जयश्रीराम के उद्घोष से की थी।

इससे पहले देश के गृह मंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने शिखर पर भ्रष्टाचार खत्म करने में पीएम मोदी को बेहद सफल बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व में देश का नाम काफी ऊंचा कर दिया है। उन्होंने भारत को एक बेहद दमदार राष्ट्र बना दिया है। राजनाथ ने कहा कि आज के दौर में भी धनवान, बलवान व ज्ञानवान होने से व्यक्ति बड़ा नहीं होता है। रावण धनवान, बलवान और ज्ञानवान था, लेकिन फिर भी रावण की पूजा नहीं होती है। मर्यादा पुरूषोत्तम राम की पूजा होती है। राजनाथ ने कहा कि पीएम का लखनऊ आने पर बार-बार आभार। लखनऊ तो लक्ष्मणपुरी के रुप में जानी जाती है। अटलजी की कर्म भूमि है लखनऊ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामलीला मैदान में मंच पर पहुंचे। उन्होंने रामलीला का मंचन कर रहे कलाकारों को टीका लगाने के बाद उनकी आरती की। राजनाथ सिंह और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, महापौर दिनेश शर्मा साथ में पहुंचे। मंगलाचरण और स्वागत।इस अवसर पर लखनऊ के मेयर डॉ. दिनेश शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। पीएम मोदी ने चांदी के धनुष से बाण भी चलाया। उनके तीर चलाते ही ऐशबाग मैदान में जयश्रीराम को नारे लगने लगे। आयोजकों ने पीएम को चांदी की गदा भेंट की। इसके साथ ही धनुष बाण देकर पीएम को सम्मानित भी किया गया। इससे पहले भारतीय वायुसेना के विशेष विमान से लखनऊ पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी का अमौसी एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्वागत किया। गृहमंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह के साथ मेयर डॉ. दिनेश शर्मा एयरपोर्ट पर उनकी अगवानी के लिए मौजूद थे। किसी भी प्रधानमंत्री के रूप में पहली बार ऐशबाग की रामलीला पहुंचने वाले नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता बेहद जोश था।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *