Search
Tuesday 26 September 2017
  • :
  • :

प्रसाद की पंजीरी कैसे बनाएं

प्रसाद की पंजीरी कैसे बनाएं

14हम सभी के घरों में आए दिन कोई न कोई पूजा होती रहती है। पूरे देश में प्रसाद के रूप में पंजीरी बांटने का प्रचलन हमेशा से रहा है। अक्‍सर महिलाएं केवल आटे को चीनी में मिलाकर भून देती है और पंजीरी का नाम दे देती है। पंजीरी बनाने का एक तरीका होता है। आज हम आपको बताएंगे कि घर पर पंजीरी कैसे बनाते है :

पंजीरी बनाने के लिए आवश्‍यक सामग्री : चार लोगों के लिए

गेंहू का आटा – दो कप
सूखा नारियल – एक कप कद्दुकस किया हुआ।
देसी घी – एक तिहाई कप
चीनी या गुड खाने वाला
गोंद – 3 चम्‍मच
ड्राई फ्रूट्स – काजू, बादाम, किशमिश, छुआरा, अखरोट आदि बारीक कटा हुआ।
खरबूज के बीज छोटी इलायची
पंजीरी बनाने की विधि :

सबसे पहले तेल को मध्‍यम आंच पर गर्म करें। तेल गर्म होने पर गोंद के टुकड़ों को हल्‍का – हल्‍का भून लें यानि ब्राउन होने तक उनको भूनें। उसे भूनने के बाद एक – एक करके सभी ड्राई फ्रूट्स को भूनें। बाद में, खरबूज के बीजों को सावधानी से हल्‍का सुनहरा होने तक भून लें। अब कढ़ाई से अतिरिक्‍त तेल को बड़े चम्‍मच से निकाल लें और उसमें थोड़ा सा ऑयल रहने दें। उस ऑयल में आटे को डाल दें।

आटे को डालने के बाद, उसे लगातार चलाते रहे ताकि वह किनारों पर चिपक न पाएं। आटे को सुनहरा होने तक भूनें। जब वह भून जाएगा तो मीठी-मीठी सी महक आने लगती है। अब इसमें चीनी मिला लें या फिर गुड को बारीक काट कर डालें ताकि वह आसानी से पूरे आटे में मिश्रित हो जाएं। चीनी अच्‍छे से मिलाने के बाद, उसमें भूना हुआ गोंद, ड्राई फ्रूटस और खरबूज के बीज मिला दें। बाद में छोटी इलायची को छील कर इसमें दानों को मिला लें। अब आपका पंजीरी प्रसाद तैयार।

बनाते समय टिप्‍स :

ऑयल या घी ज्‍यादा पुराना या इस्‍तेमाल किया हुआ न हो।
पंजीरी को बनाने में हमेशा चलाते रहना पड़ता है वरना आटे में कसैलापन आ जाता है।
लोहे की कढ़ाई में पंजीरी बनाने से बचें।
नॉनस्टिक में बनाएं, ज्‍यादा बेहतर होगा।
गोंद को अच्‍छे से पाग लें वरना वह दांतों में चिपकता रहता है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *