Search
Wednesday 26 June 2019
  • :
  • :

छह माह के बाद मिले उत्तर मे भी नही दिखा व्यापारियो की समस्या का निराकरण

छह माह के बाद मिले उत्तर मे भी नही दिखा व्यापारियो की समस्या का निराकरण

विद्रोही आवाज़

सूरत । गुड्स एण्ड सर्विस टेक्स के कानून का अमलीकरण होनेके बाद कपड़ा व्यापारियो की परेशानीया बढ़ी है । पहले ही अपेक्षा पेमेंट देरी से मिल रहा है ।सूरत के कपड़ा व्यापारियो के संगठन फोस्टा ने केंद्रीय वित्तमंत्रालय को पत्र लिखकर अनियमित भुगतान करनेवाले व्यापारियो के जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर रद्द करने की मांग की थी ।इसका उत्तर 6 महीने बाद सरक्युलर से मिनिस्टरी ऑफ फायनेंस के डिपार्टमेन्ट ऑफ रेवन्यू द्वारा दिया गया है कि पेमेंट संबंधित समस्या का हल उनके पास नहीं है अन्य विभाग का संपर्क करे । प्राप्त जानकारी के अनुसार फोस्टा के पदाधिकारियों ने 16 अक्तूबर 2018 को केंद्रीय वित्तमंत्रालय को पत्र लिखकर पेशकश की थी कि जीएसटी बिल का कोई व्यापारी 6 महीने से पेमेंट नहीं दे रहा तो 20 व्यापारीयो कि शिकायत के बाद पेमेंट नहीं देनेवाले व्यारी का जीएसटी बिल रजिस्ट्रेशन नंबर रद्द किया जाए । इसके साथ साथ जो व्यापारी पेमेंट चुकाने मे चीटिंग करते है उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही हो । कपड़ा उद्योग मे बढ़ रहे आर्थिक अपराधो के हल के लिए इकोनोमिक ओफ़ेन्स सेल निर्माण करने की मांग की गई थी । इन मांगो का उत्तर 6 मार्च 2019 को मिनिस्टरी ऑफ फायनेंस के डिपार्टमेन्ट ऑफ रेवन्यू ने दिया था जिसमे बताया गया था कि ,जीएसटी रजिस्ट्रेशन रद्द करने का कोई भी अधिकार हमारे पास नहीं है । यदि कोई जीएसटी से संबंधित समस्या है तो जीएसटी विभाग के पास जाकर उसका हल प्राप्त कर सकते है । छह महीने के बाद मिले इस उत्तर मे व्यापारियो को किसी भी समस्या का निराकरण नहीं दिख रहा ।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *