Search
Saturday 18 November 2017
  • :
  • :

आलूबुखारा त्‍वचा के लिए कमाल का

आलूबुखारा त्‍वचा के लिए  कमाल का

स्‍वाद में खट्टा मीठा और टेस्‍टी आलूबुखारा सेहत के साथ-साथ आपके चेहरे और बालों के लिए भी बहुत अच्‍छा होता हैं ! आलू बुख़ारा एक गुठलीदार फल है। आलू बुख़ारे लाल, काले, पीले और कभी-कभी हरे रंग के होते हैं। आलू बुख़ारों का ज़ायका मीठा या खट्टा होता है और अक्सर इनका पतला छिलका अधिक खट्टा होता है। इनका गूदा रसदार होता है और इन्हें या तो सीधा खाया जा सकता है या इनके मुरब्बे बनाए जा सकते हैं। इनके रस पर खमीर उठने पर आलू बुख़ारे की शराब भी बनाई जाती है। सुखाए गए आलू बुख़ारों को बहुत जगहों पर खाया जाता है और उनमें ऑक्सीकरण रोधी (ऐन्टीआक्सडन्ट) पदार्थ होते हैं जो कुछ रोगों से शरीर को सुरक्षित रखने में मददगार हो सकते हैं। आलू बुख़ारों की कई क़िस्मों में कब्ज़ का इलाज करने वाले (यानि जुलाब के) पदार्थ भी होते हैं।

चेहरे के लिए कमाल है आलूबुखारा- स्‍वाद में खट्टा मीठा और टेस्‍टी आलूबुखारा सेहत के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है। लेकिन इसमें मौजूद प्रोटीन मिनरल और आयरन जैसे पोषक तत्‍वों के कारण आलूबूखारा शरीर के साथ-साथ चेहरे और बालों के लिए भी बहुत अच्‍छा माना जाता हैं। जी हां आलूबुखारे में विटामिन ‘ए’ और विटामिन ‘सी’ के साथ फाइबर और एंटीऑक्‍सीडेंट भी पाये जाते हैं जो आपकी त्‍वचा के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

 आलूबुखारा आपकी त्‍वचा के लिए कितना फायदेमंद होता है—

मुंहासो के निशान हटाएं—आलूबुखारा चेहरे पर मुंहासों के दाग मिटाने के साथ चेहरे का कालापन भी दूर करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट के कारण यह दाग-धब्‍बे हटाने में मदद करता है। साथ ही यह चेहरे के ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ता है जिससे त्‍वचा में ग्‍लो आता है।

उम्र के असर को बेअसर करें–विटामिन्‍स से भरपूर होने के कारण आलूबुखारा चेहरे को बढ़ती उम्र के नुकसान से बचाता है। साथ ही इस फल में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट चेहरे पर असमय झुर्रियां पड़ने नहीं देता। अगर आप अपने चेहरे को लंबे समय तक जवां बनाए रखना चाहती है तो आलूबुखारे के गुदे से चेहरे की मसाज करें। या इसका मास्‍क बनाकर अपने चेहरे पर लगाएं। आलूबुखारे में मौजूद पौष्टिक तत्‍व न केवल चेहरे को असमय झुर्रियों से बचाते है बल्कि इससे चेहरे की झाइयां भी कम होती है।

त्‍वचा को चमकदार बनाएं–अगर आप त्‍वचा को चमकदार बनाना चाहते हैं तो अपने आहार में आलूबुखारे को शामिल करें। इसमें मौजूद विटामिन सी त्‍वचा को चमकदार और लचीला बनाते है। साथ ही यह चेहरे की रंगत निखारने के साथ आपको लंबे समय तक जवां भी बनाये रखता है। साथ ही अपने डाइट में आलूबुखारे  को शामिल करके आप धूप की खतरनाक किरणों से भी बच सकती हैं क्‍योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है।

बालों के लिए वरदान—आलूबुखारे में मौजूद विटामिन सी बालों की जड़ों में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। आलूबुखारे के बीज को पीसकर पानी मिक्‍स करके बालों की जड़ों में लगाने डैंड्रफ और डैंड्रफ से होने वाली खुजली दूर हो जाती है। इसके अलावा आलूबुखारे में विटामिन और प्रोटीन की ज्‍यादा मात्रा बालों को मजबूत और घना बनाते है। साथ ही विटामिन ई बालों को झड़ने से भी रोकता है। साथ ही यह बालों के प्राकृतिक रंग को भी बरकरार रखता है।

बालों के लिए वरदान–आलूबुखारे में मौजूद विटामिन सी बालों की जड़ों में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। आलूबुखारे के बीज को पीसकर पानी मिक्‍स करके बालों की जड़ों में लगाने डैंड्रफ और डैंड्रफ से होने वाली खुजली दूर हो जाती है। इसके अलावा आलूबुखारे में विटामिन और प्रोटीन की ज्‍यादा मात्रा बालों को मजबूत और घना बनाते है। साथ ही विटामिन ई बालों को झड़ने से भी रोकता है। साथ ही यह बालों के प्राकृतिक रंग को भी बरकरार रखता है




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *